बेटा ले

बेटा ले

time:2021-10-18 17:57:01 ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक? Views:4591

लाइव रूले मलेशिया बेटा ले betway ऐप रिव्यू,fun88 भारत कार्यालय,lovebet 365 ग्रह,lovebet हो,lovebet सेंट क्लिफ्टन हिल, लॉटरी जैकपॉट,बैकारेट ए पलेर्मो,बैकारेट को अवश्य ही जीतना चाहिए कौशल,सर्वश्रेष्ठ पांच लकड़ी,बोन व्हिस्की,ओक्लाहोमा में कैसीनो. !?,शतरंज 7 साल का,क्रिकेट बॉल वजन,दुनिया में क्रिकेट बनाम फुटबॉल की लोकप्रियता,एस्पोर्ट्स वेलोरेंट,फुटबॉल कार्रवाई,मुफ्त लाइव रूले जमा नहीं,किसान जन्मदिन मुबारक हो,विश्व कप की बाधा को कैसे देखें,क्या खेलने के लिए फ्री बैकारेट है,खेल पुराण लॉटरी परिणाम,लाइव कैसीनो टूर्नामेंट,दुबई में लॉटरी,लूडो टैलेंट ऑनलाइन,ऑनलाइन बेटिंग कंपनी रैंकिंग,ऑनलाइन गेम नाम सूची,ऑनलाइन स्लॉट मुफ्त स्पिन,बिंदु रम्मी समाचार,पोकर विचरण,रूले चुटकुले,रम्मी एक मूल्य,रम्मीकल्चर तेलंगाना,स्लॉट ऐप डाउनलोड,स्पोर्ट्स लॉटरी ऑनलाइन बेटिंग स्टेशन,तीन पत्ती आवेदन,फुटबॉल टीम,वीडियो क्रिकेट मैच,किन वेबसाइटों में 3डी रूलेट है,cricket महिला टीम,करीना इंग्लिश,क्रिकेट पिच की जानकारी,चेस प्रतियोगिता,धनबाद फुटबॉल,बरसात तेरी दुल्हन सजाऊंगी,रमी चा गेम,स्टेटस टिक टॉक वीडियो डाउनलोड, .ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए.
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (क्रूड) की कीमत मजबूत हुई है. इसके साथ ही ओएनजीसी में विश्लेषकों की दिलचस्पी भी कई गुना बढ़ गई है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी का औसत रियलाइजेशन (प्राप्ति) 43 डॉलर प्रति बैरल रहा. लिहाजा, हाल में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल से ओएनजीसी को फायदा हो सकता है. मध्यम अवधि में क्रूड की कीमत 50 डॉलर से 70 डॉलर प्रति बैरल के बीच स्‍टेबल रह सकती है. तेल निर्यात करने वाले देशों के संगठन ओपेक के हस्तक्षेप से ऐसा हो सकता है. पिछली बैठक में सऊदी अरब ने खुद से उत्पादन में रोजाना 10 लाख बैरल की कमी जारी रखने पर सहमति जताई थी. दूसरे देशों ने भी उत्‍पादन नहीं बढ़ाने पर हामी भरी थी.

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है. निवेशकों की चिंता का यह बड़ा विषय था. हालांकि, विश्लेषक कहते हैं कि ओएनजीसी प्रोडक्‍शन के स्‍तर को कायम रखने में सफल रही है. जबकि दूसरी अपस्ट्रीम ऑयल कंपनियां ऐसा नहीं कर सकीं. यही कारण है कि ओएनजीसी की कुल प्रोडक्‍शन में हिस्सेदारी पिछले 10 साल में 53 फीसदी से बढ़कर 70 फीसदी हो गई.

इसे भी पढ़ें : नई व्हीकल स्क्रैपेज पॉलिसी का आपके लिए क्‍या है मतलब?

ओएनजीसी का क्रूड ऑयल प्रोडक्‍शन स्थिर बने रहने के आसार हैं. 2022-23 तक ओएनजीसी की अपना घरेलू गैस उत्पादन 0.3 एमएमएससीएमडी (मिलियन मेट्रिक स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स रोजाना) बढ़ाकर 8-9 एमएमएससीएमडी कर लेने की योजना है. 2023-24 तक 15 एमएमएससीएमडी तक पहुंचाने की तैयारी है.

मोजांबिक में ओएनजीसी विदेश और ऑयल इंडिया समर्थित ऑनशोर एलएनजी डेवलपमेंट की अच्छी प्रगति है. रोवुमा ऑफशोर एरिया-1 प्रोजेक्ट ने हाल में पहला चरण पूरा कर लिया है. वह प्रोजेक्ट के लिए अपने कर्जदारों से पैसा पाने के लिए तैयार है.

इसे भी पढ़ें : सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

ऑयल और गैस सेक्टर की कंपनियों के लिए सरकार का हस्तक्षेप मुख्य चुनौती रही है. पेट्रोलियम प्रोडक्‍टों को जीएसटी व्यवस्था में शामिल करने की मांग बढ़ रही है. वैसे, पेट्रोल और डीजल पर जीएसटी लागू होने की संभावना अभी कम है. विश्लेषकों को उम्मीद है कि सरकार आने वाले वर्षों में घरेलू प्राकृतिक गैस के मूल्य में मौजूद विसंगति को दूर करेगी. इसके चलते घरेलू उत्‍पादन को नुकसान होता है. इसके बाद ओएनजीसी को उसकी घरेलू प्राकृतिक गैस के लिए अच्‍छी दरें प्राप्‍त होंगी.

ओएनजीसी अभी उचित वैल्यूएशन पर कारोबार कर रही है. विश्लेषकों का इस शेयर में आकर्षण बढ़ने का यह भी एक कारण है. इसकी कमाई में बड़ी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है. 31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए. 4 ने ही इसमें बिक्री की राय दी है.

master6

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

ONGC share priceओएनजीसी शेयर प्राइसन‍िवेश की सलाहउत्‍पादनक्रूडविश्‍लेषकों की रायओएनजीसी

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business
Markets

Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business

8 mins read
Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?
Aviation

Still taxiing: Akasa Air, Jet Airways continue to wait for green signal. When will they take off?

15 mins read

अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में एनर्जी एक्सचेंज में स्पॉट बिजली के भाव ₹18 प्रति यूनिट तक पहुंच गए थे और कई राज्यों की बिजली वितरण कंपनियों को बिजली खरीदने में खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.Tata Punch Launched: टाटा ने लॉन्च की 'पंच', क्या बदल पाएगी भारत में माइक्रो SUV सेगमेंट की तस्वीर

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) टाटा मोटर्स ने भारतीय बाजार में सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी पंच को उतार दिया है। इसकी शोरूम कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने कहा कि इस मॉडल को टाटा मोटर्स के भारत, ब्रिटेन और इटली के स्टूडियो में डिजाइन किया गया है। यह एक पूरी तरह नयी श्रेणी.... सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी है। कंपनी के उत्पादों में यह मॉडल नेक्सन से नीचे की श्रेणी का है। इसमें 1.2 लीटर का पेट्रोल इंजन है। यह मॉडल मैनुअल और ऑटोमैटिक दोनों में उपलब्ध होगा। टाटा मोटर्स ने दावा किया कि इस मॉडल का मैनुअल ट्रिमजीपीटी हेल्थकेयर ने सेबी के पास आईपीओ दस्तावेज जमा कराए

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) टाटा मोटर्स ने भारतीय बाजार में सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी पंच को उतार दिया है। इसकी शोरूम कीमत 5.49 लाख रुपये से शुरू होती है। कंपनी ने कहा कि इस मॉडल को टाटा मोटर्स के भारत, ब्रिटेन और इटली के स्टूडियो में डिजाइन किया गया है। यह एक पूरी तरह नयी श्रेणी.... सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी है। कंपनी के उत्पादों में यह मॉडल नेक्सन से नीचे की श्रेणी का है। इसमें 1.2 लीटर का पेट्रोल इंजन है। यह मॉडल मैनुअल और ऑटोमैटिक दोनों में उपलब्ध होगा। टाटा मोटर्स ने दावा किया कि इस मॉडल का मैनुअल ट्रिमशुरुआत में बतौर छात्रा रविंद्रन से ट्यूशन पढ़ने के लिए गई थीं लेकिन बाद में दोनों ने शादी कर ली और मिलकर कंपनी को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया और आज दिव्या अपने पति के साथ कंपनी की कमान संभाल रही हैं और उसके बोर्ड में भी शामिल हैं। दिलचस्प बात यह है कि फोर्ब्स की सूची में उनके 39 वर्षीय पति, टेक उद्यमी और बायजू के सीईओ बायजू रविंद्रन इस सूची में अपनी पत्नी के बाद सबसे कम उम्र के तीसरे भारतीय अरबपति हैं। एक समय में गणित का ट्यूशन पढ़ाने वाले रविंद्रन ने 2011 में ऑनलाइन एजुकेशन कंपनी की नींव रखी थी।सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
गोवा हिस्ट्री

एनपीएस अकाउंट खोलते वक्त सब्सक्राइबर्स को विकल्प दिया जाता है. वे चाहें तो विभिन्न एसेट क्लास में खुद पैसा लगाएं. या फिर ऑटो च्‍वाइस ऑप्शन चुनें.

ऑनलाईन रमी

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों के दाम इस कदर बढ़ा दिए गए हैं कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल हो गया है। उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज से सफर करेंगे। लेकिन भाजपा सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम इतने बढ़ा दिए कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल

बेटा पैदा करने के उपाय

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का शेयर सोमवार को पांच प्रतिशत टूटकर अपनी निचली सर्किट सीमा को छू गया। कंपनी ने अमेरिका की निजी इक्विटी कंपनी कार्लाइल ग्रुप और अन्य को 4,000 करोड़ रुपये की शेयर बिक्री योजना को छोड़ दिया है जिसके बाद उसके शेयरों में गिरावट आई। बीएसई में कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत टूटकर 607.10 रुपये की अपनी निचली सर्किट सीमा पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी कंपनी का शेयर अपने निचले सर्किट पर आ गया। एनएसई में कंपनी का शेयर 4.99 प्रतिशत टूटकर 606.75 रुपये पर आ गया।

पीसीआई स्लॉट x16

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) नायका, अडाणी विल्मर और स्टार हेल्थ एंड अलायड इंश्योरेंस सहित छह कंपनियों को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए मंजूरी मिल गई है। इनके अलावा पेन्ना सीमेंट इंडस्ट्रीज, लेटेंट व्यू एनालिटिक्स तथा सिगाची इंडस्ट्रीज को भी नियामक से आरंभिक शेयर बिक्री की अनुमति मिली है। इन कंपनियों ने सेबी के पास आईपीओ के लिए शुरुआती दस्तावेज मई और अगस्त के बीच जमा कराए थे। सेबी के ‘अपडेट’ के अनुसार, इन कंपनियो को आईपीओ के लिए बाजार नियामक का ‘निष्कर्ष’ 11 से 14 अक्टूबर के बीच मिला।

रमी मॉडल

इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी