स्लॉट गार्डन

स्लॉट गार्डन

time:2021-10-18 19:23:58 वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें? Views:4591

असली पैसे के लिए स्लॉट खेल स्लॉट गार्डन 10cric समीक्षा,casumo मुक्त स्पिन,लियोवेगास रूले,lovebet सीईओ वेतन,lovebet नो डिपॉजिट बोनस,lovebet जाम्बिया ऐप डाउनलोड,क्या कैसीनो लास वेगास में खुले हैं,बैकरेट फ़ोरम प्लेयर प्रायिकता,बैकारेट बर्तन,भारत में सट्टेबाजी कानून,कैसीनो बैकारेट को वास्तविक मुकाबले में जीतना चाहिए,कैसीनो यूटान स्वेन्स्क लाइसेंस,क्लासिक रम्मी रम्मीसर्कल,क्रिकेट खेला,ई स्पोर्ट्स वोट,यूरोपीय विलियम हिल बेटिंग कंपनी,फुटबॉल बाधाओं का ज्ञान,उत्पत्ति कैसीनो फोन नंबर,Baccarat के पास कितनी वेबसाइट हैं,आईपीएल मैच सूची 2021,जैकपॉट हाथापाई,लाइव लाठी रणनीति,लॉटरी 05 जून 2021,लॉटरी यूट्यूब लाइव,एनबीए सट्टेबाजी रैंकिंग,मुफ्त खेलने के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर केन्या,पैरिमैच हेल्पलाइन नंबर,पोकर छवियां,असली सुंदरता का खेल,शासन जॉर्जिया,रम्मी वेरिएंट नाम,स्लॉट मशीन जेएस,खेल 620,स्पोर्ट्सबुक जॉब कोलोराडो,टेक्सास होल्डम लिंगो,शीर्ष दस ऑनलाइन गेमिंग,बैकारेट के लिए कौन सा मंच सबसे अच्छा है,एक्सपीजी लाइव कैसीनो,उर्दू स्टेटस इन हिंदी,क्रिकेट bats,गोवा घूमने का खर्चा,डुओ फू डू कै,फुटबॉल स्कोर नेट,बेटा वाला गाना,लॉटरी नंबर कैसे चेक करें, .वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें?

आप जो एसेट क्‍लास चुनते हैं, वह उस लक्ष्‍य पर निर्भर करता है जिसके लिए आप निवेश कर रहे हैं.
वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अपनी बचत को सही एसेट क्लास में निवेश करना जरूरी है. इन लक्ष्‍यों में बच्‍चों की शिक्षा, घर खरीदना, रिटायरमेंट इत्‍यादि शामिल हैं. लंबी अवधि में एसेट बनाने में दो एसेट क्‍लास - इक्विटी और डेट अहम भूमिका निभाते हैं. हालांकि, आप पूछें कि अपने लक्ष्‍यों को जल्‍दी से पाने के लिए इक्विटी और डेट फंड में से बेहतर कौन है तो जवाब शायद आसान नहीं होगा. सच तो यह है कि इन दोनों का कॉम्बिनेशन और सही इस्तेमाल लक्ष्‍यों को पाने में मदद करेगा.

आप जो एसेट क्‍लास चुनते हैं, वह उस लक्ष्‍य पर निर्भर करता है जिसके लिए आप निवेश कर रहे हैं. यह फैसला आपकी उम्र, जोखिम लेने की क्षमता और बाजार की स्थितियों से भी तय होता है.

इसे भी पढ़ें : बुजुर्गों को मिले ज्‍यादा ब्‍याज, एससीएसएस की लिमिट बढ़ाकर ₹50 लाख की जाए

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए. इक्विटी म्‍यूचुअल फंड अपने एसेट का 65 फीसदी इक्विटी या अन्‍य संबंधित प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं. लंबी अवधि में इक्विटी में अन्‍य एसेट क्‍लास के मुकाबले बेहतर रिटर्न पैदा करने की क्षमता होती है. साथ ही जब आप लंबी अवधि जैसे 10 साल या इससे ज्‍यादा के लिए इक्विटी में निवेश करते हैं तो अस्थिरता को जोखिम भी घटता है. ऐसे में 20 के पड़ाव में जो लोग हैं, उन्‍हें अपनी बचत का 80 फीसदी इक्विटी फंड में सिप के जरिये निवेश करना चाहिए अगर वे अपने रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं.

लेकिन, आप 50 के पड़ाव में हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत कर रहे हैं तो आप इक्विटी में इतना भारी-भरकम निवेश नहीं कर सकते हैं. उस स्थिति में कोई अपनी बचत का 25 फीसदी से 40 फीसदी इक्विटी में निवेश कर सकता है. यह उनकी जोखिम लेने की क्षमता पर निर्भर करता है.

रिटायरमेंट के बाद भी इक्विटी म्‍यूचुअल फंडों में कुछ पैसा लगाए रहना चाहिए. यह महंगाई के असर को कम करता है. चूंकि एफडी और डेट प्रोडक्‍टों पर मौजूदा कम ब्‍याज दर के माहौल में रिटर्न घटा है. ऐसे में इक्विटी का कुछ निवेश इसकी भरपाई कर सकता है.

इसे भी पढ़ें : यूलिप और म्यूचुअल फंड में इन 5 बड़े अंतरों को जान लें, होगा फायदा

अगर आइडिया पूंजी की सुरक्षा है न कि ज्‍यादा रिटर्न तो डेट फंड सही विकल्‍प हैं. डेट फंडों में अस्थिरता कम होती है. हालांकि, रिटर्न कम होता है. डेट फंड कैटेगरी के भीतर भी अलग-अलग अस्थिरता और रिस्‍क प्रोफाइल वाले फंड होते हैं. लॉन्‍ग टर्म डेट फंड मुख्‍य रूप से लंबी अवधि के सरकारी बॉन्‍डों में निवेश करते हैं. कॉरपोरेट बॉन्ड फंड अर्थव्यवस्था में ब्‍याज दर के फ्लक्‍चुएशन को लेकर बहुत संवेदनशील होते हैं.

हालांकि, शॉर्ट-टर्म डेट फंड ब्‍याज दर के फ्लक्चुएशन को लेकर कम संवेदनशील होते हैं. कारण है कि ये छोटी अवधि के डेट इंस्‍ट्रूमेंट जैसे ट्रेजरी बिल, कमर्शियल पेपर इत्यादि में निवेश करते हैं. इस तरह के फंड उन लक्ष्‍यों के लिए मुफीद होते हैं जो एक से तीन साल दूर हैं. वहीं, इमर्जेंसी फंड बनाने जैसे बहुत छोटी अवधि के लक्ष्‍यों के लिए लिक्विड फंड या ओवरनाइट फंड उपयुक्‍त विकल्‍प हैं.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

डेट फंडइक्विटी फंडरिटायरमेंटएसेट क्‍लासवित्‍तीय लक्ष्‍य

ETPrime stories of the day

How DealShare’s multitasking community leaders can help it build a Meesho for grocery beyond metros
Digital economy

How DealShare’s multitasking community leaders can help it build a Meesho for grocery beyond metros

12 mins read
PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business
Markets

Rooms and reservations: what Oyo’s DRHP tells and does not tell us about its business

8 mins read

वित्त वर्ष 2020-21 में घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 41 फीसदी बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचई गई.नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पेट्रोलियम उत्पादों के दाम इस कदर बढ़ा दिए गए हैं कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किल हो गया है। उन्होंने एक खबर साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘वादा किया था कि हवाई चप्पल वाले हवाई जहाज से सफर करेंगे। लेकिन भाजपा सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दाम इतने बढ़ा दिए कि अब हवाई चप्पल वालों और मध्यम वर्ग का सड़क पर सफर करना भी मुश्किलJob Offer: उत्तर भारत में बढ़ती बेरोजगारी के आंकड़े क्या संकेत दे रहे हैं?

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) ऑनलाइन ब्रोकरेज कंपनी जेरोधा ने सोमवार को कहा कि उसके निवेशकों को डिपॉजिटरी सीडीएसएल के साथ बिक्री के क्रियान्वयन में ‘एक मुद्दे’ की वजह से कुछ दिक्कत आई है। कंपनी ने ट्वीट किया, ‘‘सीडीएसएल के साथ एक मुद्दे की वजह से आपको अपने शेयरों की बिक्री के क्रियान्वयन में कुछ परेशानी आ रही है। हम सीडीएसएल के साथ संपर्क में हैं और इस मुद्दे को जल्द से जल्द हल कर लिया जाएगा।’’ जेरोधा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि यदि आप अपने शेयर काइट पर बेचना चाहते हैं, तो सीडीएसएल की मंजूरी कोनयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) आईएलएस अस्पताल श्रृंखला का परिचालन करने वाली जीपीटी हेल्थकेयर ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ के तहत कंपनी 17.5 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। इसके अलावा कंपनी की एक प्रवर्तक इकाई तथा एक निवेशक 2.98 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। नए शेयरों की बिक्री से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल कंपनी चिकित्सा उपकरणों की खरीद और अन्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए करेगी। जीपीटी हेल्थकेयर पूर्वी भारत में ‘आईएलएस हॉस्पिटल्स’ ब्रांड के तहत मध्यम आकारम्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार में मजबूती के रुख के कारण सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे वायदा कारोबार में सोमवार को एल्युमीनियम की कीमत 0.83 प्रतिशत की तेजी के साथ 256.35 रुपये प्रति किलो हो गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर माह में डिलीवरी होने वाले अनुबंध के लिये एल्युमीनियम का भाव 2.10 रुपये यानी 0.83 प्रतिशत बढ़कर 256.35 रुपये प्रति किलो हो गया। इसमें 2,098 लॉट के लिये सौदे किये गये। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में उपभोक्ता उद्योगों की मांग बढ़ने के कारण व्यापारियोंप्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए इक्विटी या डेट फंड में से किसमें निवेश करें?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebetा इटालिया

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए.

तीन पत्ती आष्टा

सामान्‍य सिप के मामले में निवेशक सिप की अवधि में अपना कॉन्ट्रिब्‍यूशन नहीं बढ़ा सकते हैं. अगर वे इसे बढ़ाना चाहते हैं तो उन्‍हें नए सिरे से सिप शुरू करना होगा या एकमुश्त निवेश करने की जरूरत होगी.

लॉटरी यूट्यूब आज रात

हम सीनियर सिटीजन के लिए निवेश के पांच ऐसे विकल्प बता रहे हैं जिससे उनकी मेहनत की कमाई पर अच्छी नियमित आय आती रहे.

lovebet नहीं खुल रहा है

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) देश के आठ प्रमुख शहरों में चालू वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर तिमाही में घरों की बिक्री सालाना आधार पर 59 प्रतिशत बढ़ककर 55,907 इकाई पर पहुंच गई। प्रॉपटाइगर.कॉम ने यह जानकारी दी है। पिछली यानी जून तिमाही की तुलना में सितंबर तिमाही में घरों की मांग तीन गुना बढ़ गई है। आवास ब्रोकरेज कंपनी प्रॉपटाइगर.कॉम ने कहा है कि महामारी की दूसरी लहर के बाद संपत्ति बाजार में अब सुधार हो रहा है। पिछले साल जुलाई-सितंबर में घरों की बिक्री 35,132 इकाई और इस साल जून तिमाही में 15,968 इकाई रही थी। यह विभिन्न संपत्ति

lovebet सिस्तेमा 6/8

शुरुआत में बतौर छात्रा रविंद्रन से ट्यूशन पढ़ने के लिए गई थीं लेकिन बाद में दोनों ने शादी कर ली और मिलकर कंपनी को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया और आज दिव्या अपने पति के साथ कंपनी की कमान संभाल रही हैं और उसके बोर्ड में भी शामिल हैं। दिलचस्प बात यह है कि फोर्ब्स की सूची में उनके 39 वर्षीय पति, टेक उद्यमी और बायजू के सीईओ बायजू रविंद्रन इस सूची में अपनी पत्नी के बाद सबसे कम उम्र के तीसरे भारतीय अरबपति हैं। एक समय में गणित का ट्यूशन पढ़ाने वाले रविंद्रन ने 2011 में ऑनलाइन एजुकेशन कंपनी की नींव रखी थी।

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
हैप्पी फार्म 2 जावा गेम

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) आईएलएस अस्पताल श्रृंखला का परिचालन करने वाली जीपीटी हेल्थकेयर ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। आईपीओ के तहत कंपनी 17.5 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी करेगी। इसके अलावा कंपनी की एक प्रवर्तक इकाई तथा एक निवेशक 2.98 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री पेशकश (ओएफएस) लाएंगे। नए शेयरों की बिक्री से जुटाई गई राशि का इस्तेमाल कंपनी चिकित्सा उपकरणों की खरीद और अन्य कॉरपोरेट कामकाज के लिए करेगी। जीपीटी हेल्थकेयर पूर्वी भारत में ‘आईएलएस हॉस्पिटल्स’ ब्रांड के तहत मध्यम आकार

क्रिकेट जैकपॉट टिप्स टेलीग्राम

न्यूयॉर्क, 18 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दुनियाभर में कोविड-19 महामारी से मुकाबले के लिए एक अंतरराष्ट्रीय वित्तीय ढांचा बनाने पर जोर दिया है। उन्होंने कहा कि टीके के कच्चे माल के लिए आपूर्ति श्रृंखला को खुला रखने की जरूरत है। वित्त मंत्री ने रविवार को जी30 अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग सेमिनार में वर्चुअल तरीके से भाग लेते हुए यह बात कही। वित्त मंत्रालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। सीतारमण ने जलवायु और महामारी से सुरक्षा के लिए वित्त और प्रौद्योगिकी समाधान के समान तरीके से वितरण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए केंद्रित तरीके से

ज्ञानवर्धक स्टेटस

नयी दिल्ली, 18 अक्टूबर (भाषा) दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया लि. (वीआईएल) ने इंजीनियरिंग एवं निर्माण कंपनी लार्सन एंड टुब्रो (एलएंडटी) के स्मार्ट वर्ल्ड एवं संचार कारोबार के साथ 5जी आधारित स्मार्ट सिटी समाधानों के परीक्षण की पायलट परियोजना के लिए हाथ मिलाया है। यह सरकार द्वारा आवंटित स्पेक्ट्रम के मौजूदा 5जी परीक्षणों का हिस्सा है। एक संयुक्त बयान में इस भागीदारी की जानकारी देते हुए कहा गया है कि पायलट परियोजना पुणे में सरकार द्वारा आवंटित 5जी स्पेक्ट्रम पर स्थापित की जाएगी। इसके जरिये स्मार्ट सिटी एप्लिकेशंस का विश्लेषण किया जाएगा। ये कंपनियां इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी), कृत्रिम मेधा