हाँ ई-स्पोर्ट्स एशिया होल्डिंग्स लिमिटेड

हाँ ई-स्पोर्ट्स एशिया होल्डिंग्स लिमिटेड

time:2021-10-26 20:17:19 कार के 88 नए मॉडल आए, इनमें से 28 पर कस्टमर के लिए कोई स्कीम नहीं, समझिए पर्दे के पीछे की कहानी Views:4591

क्रिकेट बग हाँ ई-स्पोर्ट्स एशिया होल्डिंग्स लिमिटेड betway साइन अप,लियोवेगास खेल,एक टेलीचार्जर को प्यार करें,lovebet लिंक अल्टरनेटिफ 2021,lovebet सत्यापन प्रक्रिया,एक शतरंज का टुकड़ा क्रॉसवर्ड सुराग,बैकारेट धोखाधड़ी कानून,बैकारेट रूज 540 नोट्स,बेटिका जैकपॉट गेम परिणाम,कैसीनो 0-24,कैसीनो राम तीन दिन की कृपा,Chessadillas y huarachess cancún q.r,क्रिकेट मैदान आरेख,डेक बैकरेट जूते,यूरोपीय कप ऑनलाइन ऑड्स,फुटबॉल बाधा ज्ञान,गेमिंग मोबाइल बेटिंग साइट,एचडी कैसीनो डीलर,व्यक्ति z,जैकपॉट हीट,लाइव लाठी अमेरिका कार्डरूम,लाइव रूले मलेशिया,लॉटरी परिणाम आज रात,मोबाइल जुआ साइट,ऑनलाइन कैसीनो कम जमा,ऑनलाइन पैसे जुआ,ऊ लॉटरी,पोकर bet365,पूल रम्मी वेब,रॉयल गॉर्ज ब्रिज,रमी मोबाइल जीरो,आकार 0 क्रिकेट बल्ला,स्लॉट अवकाश,खेल युवा और सांस्कृतिक गतिविधियों विभाग,टेलीफ़ोनो डे लवबेट,बैकारेट के नियम,वार्किड्ज़ एस्पोर्ट्स,विश्व कप का समय,आईपीएल मैच कब है,कैसिनो प्राइड व्हिस्की,खेलो पर जुआ up,जोकर पर निबंध,फुटबॉल चालीसा,बेटा गूगल,लूडो यारसा गेम डाउनलोड,स्पोर्ट्स कोटा जॉब्स 2021, .कार के 88 नए मॉडल आए, इनमें से 28 पर कस्टमर के लिए कोई स्कीम नहीं, समझिए पर्दे के पीछे की कहानी

Story outline

  • चिप (Chip) की कम उपलब्धता के चलते कंपनियां उत्पादन घटाने को मजबूर हुई हैं।
  • कच्चे माल (Raw Materials) की बढ़ती कीमतों ने कंपनियों की कॉस्ट (Cost) बढ़ा दी हैं।
  • कच्चे माल की कीमतें बढ़ने से कार कंपनियों की मुनाफा कमाने की क्षमता पर असर पड़ा है।
नई दिल्ली
क्या आप कार खरीदने के बारे में सोच रहे हैं? अगर हां तो थोड़ा इंतजार कर लेना ठीक रहेगा। इसकी वजह यह है कि कार खरीदने पर मिलने वाला डिस्काउंट (Discount) और बेनफिट (Benefit) काफी घट गया है। यह तीन साल के निचले स्तर पर आ गया है। कुल 88 मॉडल में से 28 पर किसी तरह का डिस्काउंट नहीं है। 2020 में 102 मॉडल में से सिर्फ 21 पर डिस्काउंट नहीं था। 2019 में कुल 106 मॉडल में से 23 पर डिस्काउंट और बेनफिट नहीं था। आइए इसकी वजह जानते हैं।

कार कंपनियों (Car Companies) के यह मुश्किल वक्त है। पहला, चिप (Chip) की कम उपलब्धता के चलते कंपनियां उत्पादन घटाने को मजबूर हुई हैं। दूसरा, स्टील (Steel) सहित कच्चे माल (Raw Materials) की बढ़ती कीमतों ने कंपनियों की कॉस्ट (Cost) बढ़ा दी हैं। इसके चलते कंपनियों का मार्जिन (Margin) घट गया है। इस साल कार कंपनियां पहले ही कई बार कीमतें कई बार बढ़ा चुकी हैं। वह फिर से कीमत नहीं बढ़ाना चाहती हैं। खासकर ऐसे वक्त जब कोराना की मार के बाद उनका कारोबार पटरी पर लौटता दिख रहा है। ऐसे में उनके पास डिस्काउंट और बेनफिट खत्म करने के सिवाय दूसरा रास्ता नहीं है।

Success Story: बैंक की नौकरी छोड़ ब्यूटी प्रोडक्ट की कंपनी बनाई, आज वैल्यूएशन लाखों डॉलर में

ऑटो बिजनेस से जुड़ी इंफॉर्मेशन देने वाली जाटो डायनेमिक्स (JATO Dynamics) के मुताबिक, 2019 के मुकाबले एवरेज डिस्काउंट 50 फीसदी से ज्यादा घट गया है। एसयूवी पर डिस्काउंट 47,000 रुपये से 15,000 रुपये पर आ गया है। छोटी कारों पर डिस्काउंट 43,600 से घटकार 13,000 रुपये रह गया है। सेमी कंडक्टर की कमी का सीधा असर सप्लाई पर पड़ा है। कस्टमर्स को अपनी पसंद की कार नहीं मिल रही हैं। डीलर जो कार उन्हें ऑफर कर रही हैं, उसे वे खरीदना नहीं चाहते हैं।

जाटो के प्रेसिडेंट रवि भाटिया ने कहा, "नवरात्रि में बिक्री उम्मीद के मुताबिक नहीं रही। एंट्री लेवल कारों पर कुछ स्कीम हैं। इसके बावजूद उनकी बिक्री बहुत कम है, क्योंकि आर्थिक कारणों से कस्टमर्स कार खरीदने से हिचक रहे हैं। हायर सेगमेंट में डिमांड है, लेकिन व्हीकल्स की कमी है। नए लॉन्च को लेकर उत्साह है। लेकिन, सप्लाई कम होने का असर सेल्स पर पड़ रहा है।"

नारायणमूर्ति के दामाद से ब्रिटेन के अरबपतियों की अपील, 'हमारी ज्यादा कमाई पर टैक्स लगा दो', जानिए भारत में कितना है वेल्थ टैक्स

इक्रा ग्रुप (ICRA Group) के हेड एवं वीपी (कॉर्पोरेट रेटिंग्स) शमशेर दीवान ने कहा, "चिप की कमी से इंवेंट्री लेवल कम है। उधर, मिड-साइज हैचबैक और कॉम्पैक्ट एसयूवी में कस्टमर्स की दिलचस्पी बढ़ रही है।" एमएंडएम के डीलर और जेएस4व्हील मोटर के एमडी निकुंज सांघी ने कहा, "2019 के मुकाबले कुछ मार्केट्स में एंट्री लेवल कार की डिमांड 30 फीसदी तक घट गई है।" कार की कीमतें बढ़ी हैं। टोयोटा के डीलर ने कहा कि कच्चे माल की कीमतें बढ़ने से कार कंपनियों की मुनाफा कमाने की क्षमता पर असर पड़ा है।

घर के बेकार पड़े कमरों में उगाए मशरूम, कमा रहीं लाखों रुपए

अपने घर के बेकार पड़े हुए जगह को कैसे इस्तेमाल किया सकता है। अगर आपको जानना है तो आप गोपालगंज आइये। गोपालगंज के हथुआ की रहने वाली रेखा देवी ने अपने घर के बेकार पड़े जगह और कमरों को मशरुम के खेती के लायक बनाया। अपने खाली समय को मशरूम की खेती में बताती हैं। घर के बेकार कमरों को इस्तेमाल किया और इससे वे हर साल इससे करीब 3 लाख रुपये तक की आमदनी भी कर लेती हैं।<br /><br />रेखा देवी के मुताबिक जब उनके बच्चे पढ़ने के लिए घर से बाहर चले गए तब वे घर में बेकार पड़ी थी। उनके पास कोई काम नहीं था। उनका बड़ा सा घर है। घर के कई कमरे भी बेकार पड़े हुए थे। उन्होंने पत्रिका और अखबारों के माध्यम से इसकी जानकारी इकट्ठा की। और फिर महरूम की खेती शुरू कर दी।<br /><br />रेखा देवी के मुताबिक उन्होंने अपने कमरे में ओएस्टर मशरूम, पोर्टबेलो, हेडहॉग, शिटाके और बटन मशरूम जैसे कई किस्म के मशरूम की खेती की है।<br />वे सालों भर घर मे मशरूम का उत्पादन करती हैं। जिसकी बाजार में ज्यादा डिमांड भी है।<br /><br />रेखा देवी के मुताबिक सुखी हुई घास , मिट्टी और गोबर का मिश्रण बनाकर उसे सड़ने के लिए सड़ने के रखना है। फिर इस मिश्रण में अलग-अलग किस्म के मशरूम के बीज डाले। और इस बीज को एक डिब्बे या प्लाटिक के पॉट में रखे मिट्टी घास गोबर के मिश्रण में डाल दे। रोजाना इसमे जरूरत के मुताबिक पानी दिया गया। पानी देने से मशरूम के बीज से 3 सप्ताह में पौधे निकलने लगेंगे।<br /><br />रेखा देवी ने बताया कि जिन कमरों में मशरूम की खेती के लिए पॉट को रखा जाता है। उस कमरे में हमेशा नमी और ठंडक रहनी चाहिए। रेखा देवी हथुआ निवासी अश्विनी कुमार उर्फ पप्पू श्रीवास्तव की पत्नी रेखा देवी मशरूम से बिस्किट, लड्डू और अचार बनाती हैं। रेखा देवी के इस फैसले से उनके घर की आर्थिक स्थिति सुधरी है। और उन्हें हर साल 2 से 3लाख रुपये की सालाना आमदनी हो जाती है।<br />

In Video: घर के बेकार पड़े कमरों में उगाए मशरूम, कमा रहीं लाखों रुपए

टॉपिक

schemes on new carsbenefit on new car purchasediscount on new carscompany discount in new carsनई कारों पर स्कीमनई कारों पर डिस्काउंटnew car modelsdiscount on new card modelsकारों के नए मॉडल्स पर डिस्काउंटनई कारों पर कितना डिस्काउंट

ETPrime stories of the day

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read
Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read

योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.अगले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में वाहनों की कीमत बढ़ा सकती है महिंद्रा

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) बीसीसीआई ने जब आईपीएल टी-20 लीग की दो नई टीमों के लिए बोलियां आमंत्रित की थीं, तो ज्यादातर लोगों को इनके लिए 12,715 करोड़ रुपये की बोली मिलने की उम्मीद नहीं रही होगी, लेकिन दो नए मालिकों - आरपी-संजीव गोयनका समूह और इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड (सीवीसी कैपिटल पार्टनर्स) के लिए यह खेल संपत्तियों में निवेश का एक बढ़िया मौका था। बीसीसीआई को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास की राशि मिलने की उम्मीद थी। गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने लखनऊ फ्रेंचाइजी के लिए 7,090फरवरी 2021 में टीकेएम ने 14,075 वाहनों की बिक्री की थी. इस तरह घरेलू बाजार में उसने फरवरी 2020 के मुकाबले 36 फीसदी ग्रोथ दर्ज की थी.टर्म इंश्‍योरेंस पॉलिसी हो सकती है महंगी, यह है वजह

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) ऑटो कलपुर्जे बनाने वाले मदरसन समूह ने मंगलवार को कहा कि उसने भारत में एक नए टूल रूम के लिए मारेली ऑटोमोटिव लाइटिंग (मारेली) के साथ साझेदारी का विस्तार किया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि यह विशेष किस्म के लाइटिंग अनुप्रयोगों के लिए समर्पित भारत में अपनी तरह का पहला टूल रूम होगा। टूल रूम की स्थापना मौजूदा संयुक्त उद्यम कंपनी - मारेली मदरसन ऑटोमोटिव लाइटिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के तहत की जाएगी। नया टूल रूम नोएडा में स्थित होगा और वित्त वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही में उत्पादन के लिए तैयारक्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं. हमने यहां 7-15 लाख रुपये की कैटेगरी में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.फास्‍टैग नहीं लिया है? परेशान न हों, कुछ ही मिनट में गाड़ी में लग जाएगा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
ऑनलाइन कैसीनो जोंडर खाता

योनो सुपर सेविंग डेज का पहला चरण फरवरी में संपन्‍न हुआ था. इस दौरान भी ग्राहकों को छूट पर 4 दिन के लिए खरीदारी का मौका मिला था. यह 4 फरवरी से 7 फरवरी तक चला था.

लाइव बैकरेट जीतना चाहिए

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) बीसीसीआई ने जब आईपीएल टी-20 लीग की दो नई टीमों के लिए बोलियां आमंत्रित की थीं, तो ज्यादातर लोगों को इनके लिए 12,715 करोड़ रुपये की बोली मिलने की उम्मीद नहीं रही होगी, लेकिन दो नए मालिकों - आरपी-संजीव गोयनका समूह और इरेलिया कंपनी पीटीई लिमिटेड (सीवीसी कैपिटल पार्टनर्स) के लिए यह खेल संपत्तियों में निवेश का एक बढ़िया मौका था। बीसीसीआई को 2022 से आईपीएल में हिस्सा लेने वाली दो नई टीमों से 10 हजार करोड़ रुपये के आसपास की राशि मिलने की उम्मीद थी। गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने लखनऊ फ्रेंचाइजी के लिए 7,090

lovebet 11

कंपनी ने बताया है कि कच्चे माल की कीमत बढ़ने से लागत में इजाफा हुआ है. उसकी भरपाई के लिए दाम बढ़ाना जरूरी हो गया है.

मैं कैसीनो अर्थ

मेनलो पार्क (अमेरिका), 26 अक्टूबर (एपी) सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक ने बताया कि जूलाई-सितंबर 2021 तिमाही के दौरान उसकी शुद्ध आय 17 फीसदी बढ़कर 9.19 अरब अमेरिकी डॉलर या 3.22 डॉलर प्रति शेयर हो गई। कंपनी को एक साल पहले की समान अवधि में 7.85 अरब अमेरिकी डॉलर या 2.71 डॉलर प्रति शेयर का मुनाफा हुआ था। समीक्षाधीन अवधि में फेसबुक की आय 35 प्रतिशत बढ़कर 29.01 अरब डॉलर हो गई। इस दौरान उसकी विज्ञापन आय में मजबूत बढ़ोतरी हुई। फैक्टसेट के एक सर्वेक्षण के अनुसार विश्लेषकों को औसतन 24.49 अरब अमेरिकी डॉलर की आय के साथ प्रति शेयर 3.19

रूले लाइव आओ विंसेरे

चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग (Alibaba Group Holding) जैक मा (Jack Ma) ने पिछले साल अक्टूबर में चीन के फाइनेंशियल सिस्टम के खिलाफ मुंह खोला था। पिछले एक साल में अलीबाबा का मार्केट कैप 344 अरब डॉलर घट गया है।

संबंधित जानकारी
lovebet या lovebet

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) देश के प्रमुख ऊर्जा व्यापार मंच इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (आईईएक्स) ने मंगलवार को कहा कि उसने ऊर्जा बचत प्रमाणपत्रों में कारोबार शुरू किया है। आईईएक्स ने एक बयान में कहा कि ऊर्जा बचत प्रमाणपत्रों में कारोबार की शुरुआत ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) की परफॉर्म अचीव एंड ट्रेड (पीएटी) यानी प्रदर्शन, उपलब्धि एवं व्यापार योजना के तहत हुई है। आईईएक्स पर यह कारोबार सप्ताह में एक बार प्रत्येक मंगलवार को होगा। पीएटी योजना के कवरेज का विस्तार सीमेंट, लौह एवं इस्पात, उर्वरक, ताप बिजली संयंत्र, रिफाइनरी, पेट्रोकेमिकल्स और रेलवे सहित सबसे अधिक ऊर्जा खपत वाले देश के

गरम जानकारी